28 एलिय्याह

एलियाह, सबसे महान नबी में से अपने कमजोर क्षण थे। वह एक सबसे बुरे राजा – अहाब के खिलाफ संघर्ष करता है।

सारांश

  • राजा अहाब और नबियों

  • एलिय्याह, सबसे अच्छा नबी, बनाम अहाब, सबसे बुरे राजा

  • साहसिक प्रदर्शन

  • गहरे अवसाद

  • आज हम कहाँ हैं?

राजा अहाब और नबियों

  • सबसे खराब राजा, कई नबियों द्वारा पहुंचा

  • 400 नबियों रानियों की मेज पर भोजन किया

  • परमेश्वर के नबियों मारे गए थे

  • एक नबी खुद को घायल राजा तक पहुँचने के लिए

  • झूठ बोल नबियों को धोखा दिया

  • मीकायाह अहाब की मौत भविष्यवाणी किया

  • और सजा मिला।

एलिय्याह

  • ओबद्याह के डर से लड़ते

  • राजा और बाल के सब नबियों का सामना किया

  • उन्हें हरा दिया

  • अचानक ईजेबेल के कारण डर हो जाता है

  • उसके जीवन के लिए चलाता है

  • परमेश्वर दिशा देता है

एलिय्याह के साहस

1 राजा 18:14 फिर अब तू कहता है, जा कर अपने स्वामी से कह, कि एलिय्याह मिला है! तब वह मुझे घात करेगा। 15 एलिय्याह ने कहा, सेनाओं का यहोवा जिसके साम्हने मैं रहता हूँ, उसके जीवन की शपथ आज मैं अपने आप को उसे दिखाऊंगा। 16 तब ओबद्याह अहाब से मिलने गया, और उसको बता दिया, सो अहाब एलिय्याह से मिलने चला। 17 एलिय्याह को देखते ही अहाब ने कहा, हे इस्राएल के सताने वाले क्या तू ही है

1 राजा 18:20 तब अहाब ने सारे इस्राएलियों को बुला भेजा और नबियों को कर्म्मेल पर्वत पर इकट्ठा किया। 21 और एलिय्याह सब लोगों के पास आकर कहने लगा, तुम कब तक दो विचारों में लटके रहोगे, यदि यहोवा परमेश्वर हो, तो उसके पीछे हो लो; और यदि बाल हो, तो उसके पीछे हो लो। लोगों ने उसके उत्तर में एक भी बात न कही। 

साहसिक प्रदर्शन

  • वह अहाब का सामना करता है, जो उसे मारना चाहता है

  • वह प्रकृति के नियमों को खारिज कर देता है

  • वह चुनौतियां और सैकड़ों के बाल नबियों के मारता है

एलिय्याह डर लगता है

1 राजा 19:1 तब अहाब ने ईज़ेबेल को एलिय्याह के सब काम विस्तार से बताए कि उसने सब नबियों को तलवार से किस प्रकार मार डाला। 2 तब ईज़ेबेल ने एलिय्याह के पास एक दूत के द्वारा कहला भेजा, कि यदि मैं कल इसी समय तक तेरा प्राण उनका सा न कर डालूं तो देवता मेरे साथ वैसा ही वरन उस से भी अधिक करें। 3 यह देख एलिय्याह अपना प्राण ले कर भागा, और यहूदा के बेर्शेबा को पहुंच कर अपने सेवक को वहीं छोड़ दिया। 

1 राजा 19:4 और आप जंगल में एक दिन के मार्ग पर जा कर एक झाऊ के पेड़ के तले बैठ गया, वहां उसने यह कह कर अपनी मृत्यु मांगी कि हे यहोवा बस है, अब मेरा प्राण ले ले, क्योंकि मैं अपने पुरखाओं से अच्छा नहीं हूँ। 
 

इज़राइल के विभिन्न रंग

  • भ्रष्ट, दुष्ट – राजा अहाब और ईज़ेबेल

  • गंभीर, कृतघ्न – विधवा

  • कर्म्मेल पर्वत में आकस्मिक, उदासीन – भीड़

  • सुसंगत, वफादार- कुछ शेष भविष्यद्वक्ता और वफादार अनुयायी -मिकायाह, ओबद्याह

परमेश्वर ने उसे मजबूत किया

1 राजा 19:5 चह झाऊ के पेड़ तले लेटकर सो गया और देखो एक दूत ने उसे छूकर कहा, उठ कर खा। 6 उसने दृष्टि करके क्या देखा कि मेरे सिरहाने पत्थरों पर पकी हुई एक रोटी, और एक सुराही पानी धरा है; तब उसने खाया और पिया और फिर लेट गया। 7 दूसरी बार यहोवा का दूत आया और उसे छूकर कहा, उठ कर खा, क्योंकि तुझे बहुत भारी यात्रा करनी है। 

दौड़ने के लिए?

1 राजा 19:8 तब उसने उठ कर खाया पिया; और उसी भोजन से बल पाकर चालीस दिन रात चलते चलते परमेश्वर के पर्वत होरेब को पहुंचा

जब हम परमेश्वर से हमारी आँखों दूर ले तब हम परमेश्वर से दूर चल रहा शुरू करते हैं।

यहोवा के वचन बोलता है

1 राजा 19:9 वहां वह एक गुफा में जा कर टिका और यहोवा का यह वचन उसके पास पहुंचा, कि हे एलिय्याह तेरा यहां क्या काम?

10 उन ने उत्तर दिया सेनाओं के परमेश्वर यहोवा के निमित्त मुझे बड़ी जलन हुई है, क्योकि इस्राएलियों ने तेरी वाचा टाल दी, तेरी वेदियों को गिरा दिया, और तेरे नबियों को तलवार से घात किया है, और मैं ही अकेला रह गया हूँ; और वे मेरे प्राणों के भी खोजी हैं।

11 उसने कहा, निकलकर यहोवा के सम्मुख पर्वत पर खड़ा हो।

यहोवा बोलता है

1 राजा 19:11 और यहोवा पास से हो कर चला, और यहोवा के साम्हने एक बड़ी प्रचण्ड आन्धी से पहाड़ फटने और चट्टानें टूटने लगीं, तौभी यहोवा उस आन्धी में न था; फिर आन्धी के बाद भूंईडोल हूआ, तौभी यहोवा उस भूंईडोल में न था। 12 फिर भूंईडोल के बाद आग दिखाई दी, तौभी यहोवा उस आग में न था; फिर आग के बाद एक दबा हुआ धीमा शब्द सुनाईं दिया।  13 यह सुनते ही एलिय्याह ने अपना मुंह चद्दर से ढांपा, और बाहर जा कर गुफा के द्वार पर खड़ा हुआ। फिर एक शब्द उसे सुनाईं दिया, कि हे एलिय्याह तेरा यहां क्या काम?

यहोवा दिशा देता है

1 राजा 19:15 यहोवा ने उस से कहा, लौटकर दमिश्क के जंगल को जा, और वहां पहुंचकर अराम का राजा होने के लिये हजाएल का,

16 और इस्राएल का राजा होने को निमशी के पोते येहू का, और अपने स्थान पर नबी होने के लिये आबेलमहोला के शापात के पुत्र एलीशा का अभिषेक करना।

1 राजा 19:17 और हजाएल की तलवार से जो कोई बच जाए उसको येहू मार डालेगा; और जो कोई येहू की तलवार से बच जाए उसको एलीशा मार डालेगा।

18 तौभी मैं सात हजार इस्राएलियों को बचा रखूंगा। ये तो वे सब हैं, जिन्होंने न तो बाल के आगे घुटने टेके, और न मुंह से उसे चूमा है।

एलिय्याह विपरीत दिशा में भाग रहा था

विचार-विमर्श

  • हम किन तरीकों से परमेश्वर से दूर चला सकता हूँ?

  • क्या गहरे अवसाद के लिए साहसिक प्रदर्शन से बदलाव के लिए बदल गया है?

  • हम परमेश्वर के बारे में क्या सीख सकते हैं?

  • हम एलिय्याह से क्या सीख सकते हैं?

एलीशा [1]

  • एलीशा का अर्थ है “परमेश्वर मोक्ष है।”

  • नबी राजा यहोराम, येहू, यहोआहाज और योआश के राज्य से अधिक से अधिक 50 साल के लिए सेवा किया ।

  • एलीशा राजाओं और इसराइल की सेनाओं की रक्षा की।

  • उन्होंने कहा कि कई चमत्कारों का प्रदर्शन किया।

  • अपने गुरु की तरह, एलीशा सच्चे परमेश्वर को मूर्तियों की अस्वीकृति और सच्चाई की मांग की।

References

1.Christianity.about.com

Related Posts

27 प्रारंभिक नबियों

जैसे-जैसे राजा बिगड़ने लगते हैं, वैसे-वैसे नबियों सामने आते हैं। मसीह के शिष्य महान शक्ति और महान जिम्मेदारी वाले नबियों के समान हैं। नबी कौन है?...

28 एलिय्याह, नबी जो मर कभी नही

एलियाह, सबसे महान नबी में से अपने कमजोर क्षण थे। वह एक सबसे बुरे राजा - अहाब के खिलाफ संघर्ष करता है। राजा अहाब और नबियों एलिय्याह, सबसे अच्छा नबी,...

29 यशायाह परमेश्वर बचा लिया गया है

यशायाह का नाम, "प्रभु ने बचाया है", आज दुनिया की एकमात्र आशा पर जोर देता है - मसीह के माध्यम से उद्धार। पृष्ठभूमि गिरना प्रलय मोचन भविष्य...

30 यिर्मयाह, रो नबी

यिर्मयाह का अर्थ है "यहोवा फेंकता है"। उनका जीवन इज़राइल के पूर्व-निर्वासन और निर्वासन तक फैला हुआ है। जबकि वह परमेश्वर के फैसले की घोषणा करता है कि...

31 दानिय्येल, परमेश्वर के अति प्रिय पुरूष

दानिय्येल का जीवन विशेष है, इसलिए नहीं कि वह पुरुषों द्वारा बहुत सम्मानित है, बल्कि इसलिए कि वह परमेश्वर द्वारा बहुत सम्मानित है। पृष्ठभूमि बाबुल...

32 दानिय्येल, भविष्य के सपने

दानिय्येल जानता है कि वह और उसके लोग लगातार अवज्ञा के कारण बंदी हैं। परमेश्वर के धैर्य और शक्ति को जानते हुए, वह विनम्र पश्चाताप में अपने राष्ट्र के...

33 यहेजकेल, पहरुआ

परमेश्वर ने यहेजकेल को भ्रम को खत्म करने और पाखंड को उजागर करने के लिए, चौकीदार कहा। वह पश्चाताप जगाता है और आशा को उत्तेजित करता है - बहाल भविष्य...

34 भविष्यवाणी की छोटे किताबें

इज़राइल की 12 छोटी भविष्यवाणी वाली किताबें (850 से 430 ईसा पूर्व) वफादार कुछ लोगों के लिए आशा के साथ न्याय की चेतावनी देती हैं। स्थिति नाबालिग...

35 मसीह की प्रतीक्षा

इस्राएल के याजक  और राजाओं विफल होते हैं। भविष्यवाणियों की चेतावनी ध्यान नहीं है। फिर भी ईश्वर का सर्व-शक्तिशाली हाथ राजाओं के हाथ से इजरायल की...